The Social Media News

Trend With Us

राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा रैली से एतराज?

Share Us

मध्यप्रदेश, इंदौर
मुस्लिम नुमाइन्दा कमेटी ने इंदौर के DM श्री मनीष सिंह को एक ज्ञापन दिया है जिसमे ये कहा गया है कि राममंदिर निर्माण के चंदे के लिए जो रैलीयां निकल रही है वो मुस्लिम एरिया से न निकाली जाए।

क्या है पूरा मामला?


ध्यान रहे कि पिछले दिनों ऐसी ही एक रैली पर कुछ मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पत्थर फेंके थे, जिसके बाद बवाल बढ़ गया था और कई लोग चोटिल हुए थे।

और कई लोगों को गिरफ्तार किया गया था.. जिन घरों से पत्थरबाजी की घटना को अंजाम दिया गया था उनमे से काफी घरों का काफी सारा हिस्सा अवैध बना हुआ था, बल्कि उनमे से काफी सारे घर तो पूरी तरह से अवैध बने हुए थे।

फिर प्रशासन ने आनन-फानन में पूरा महकमा बुला कर उन सभी अवैध निर्माणों को और अवैध घरों को तोड़ने का अभियान चला दिया था। जिसका मुस्लिम समुदाय और और उन अवैध बस्तियों मे रहने वाले लोगों ने काफी विरोध किया था। बल्कि काफी महिलाओं ने तो धरना प्रदर्शन तक शुरू कर दिया था।

प्रसाशनिक अधिकारियों को धमकी भी दी गयी थी कि ये कार्यवाही रोक दो वरना 15 Minuts मे बात हाथ से निकल जायेगी परन्तुं प्रशासन ने कठोर रुख दिखाते हुए जवाब दिया कि 10 मिनट में ये सब प्रदर्शन खत्म कर दो वरना ठीक नही होगा।

और प्रशासन के कठोर रुख को देख कर धमकी देने वाले मौलाना साहब को जाना पड़ा और प्रशासन ने अवैध अतिक्रमण और निर्माण को तोड़ कर ही दम लिया।


मुस्लिम नुमाइन्दा कमेटी ने रैली मे लगने वाले नारों पर भी आपत्ति जताई और कहा कि कई नारे भड़काऊ होते है जिनसे लोगों की भावनाएं आहत होती है और लोग भड़क जाते है तो रैली मे भड़काऊ नारेबाजी को भी प्रतिबंधित किया जाए, और ये भी कहा है कि राममंदिर निर्माण के लिए निकलने वाली रैलियों से कई इलाको मे दहशत का महौल बन गया है इसलिए राममंदिर निर्माण के चंदे के लिए निकलने वाली रैलियों को रास्ता बदल कर हिन्दू इलाके से रखा जाना चाहिए।


ये मांग भी रखी कि जो पिछले बवाल मे लोग पकड़े गए है उनकी जमानत कराई जाए।
इस पर कुछ लोगों का कहना है कि अगर आप हमारी,कभी कभार निकलने वाली शांतिप्रिय रैली को और उसमें लगने वाले नारों को नही सुन सकते और बर्दास्त नही कर सकते तो प्रशासन हमारे एरिया में नमाज की अजान को हम क्यों सुने और प्रशासन को उस पर भी रोक लगाने की तैयारी करनी चाहिए।


Share Us